Positive Pay System For Cheques क्या हैं और कैसे काम करता हैं ?

क्या , आप positive pay payment system को जानना चाहते हैं की ये क्या हैं और इसका कैसे इस्तेमाल करें , तो आप बिलकुल सही जगह आये हैं , क्यूंकि आजके इस Post / Video के माध्यम से मैं आपको बताऊंगा की positive pay system क्या हैं , कहाँ से आया , कैसे इस्तेमाल करें और , इसके क्या फायदे या नुक्सान हैं . तो पोस्ट को अंत तक follow करें .

Positive Pay System क्या हैं ?

Positive Payment System भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा चेक से छेड़छाड़ या परिवर्तन के रूप में चेक भुगतान के माध्यम से होने वाली धोखाधड़ी को रोकने के लिए एक उपाय है। जिसके तहत अगर कोई इंसान अपनी चेक book से कोई चेक (₹50000 +) काट कर किसी को देता हैं , और जब वो चेक receiver अपने बैंक में clearing केलिए लगाता हैं, तो जो खाता धारक हैं (जिसने चेक काटा हैं ) उसको अपने बैंक को ये बताना अनिवार्य होता है की उसने फला -फला amount का चेक फला के नाम से काटा (दिया ) हैं जिसे clear कर दिया जाये और Receiver के account में पैसे transfer कर दिए जाये .

Positive Pay System शुद्ध भाषा में :- पॉजिटिव पे सिस्टम एक ऐसा तरीका हैं जिस से चेक के द्वारा पैसो का लेन-देन करने पर Second Layer की security Account Holder को मिलती है जिस से , जिसने उस चेक को काटा हैं और जिस को दिया हैं (Cheque Details + Cheque Receiver’s Details) उसके बारे में बैंक को बताना होता हैं ताकि चेक मिलने वाले को पैसो का भुक्तान होपये , और इसी Process को Positive Pay System कहते हैं .

Positive Pay System कैसे काम करता है :-

जब भी किसी भी बैंक का कोई Customer अपने बैंक Account से किसी दुसरे इंसान को ₹50000 या उस से अधिक पैसा देने (Transfer) करने केलिए Cheque का इस्तेमाल करता हैं और अपनी Cheque book से एक Cheque उसके नाम पर काट कर उसे दे देता हैं , ताकि वो चेक के द्वारा पेमेंट receive कर सके , तो वो उस चेक को अपने बैंक में लगाता हैं . और जब वो चेक Clearing केलिए जाता हैं तब जिसके बैंक account की चेक book का वो चेक है उसे ये verify करना होता है की वो चेक उसी ने दिया है और amount भी बताना होता है की कितने का दिया हैं , कब दिया था , कितने amount का था , चेक no. Transaction no. etc .

और जब दोनों details ( चेक में लिखी हुई + Customer द्वारा बैंक को बताई गयी) मैच होजाती हैं तो फिर चेक को clear कर के पैसे को receiver के account में transfer कर दिया जाता हैं . और चेक द्वारा Transaction पूरा होजाता हैं . जैसा आप नीचे फोटो में देख सकते हैं :-

Example of positive pay system for cheques

Example Image Of bank Cheque with Positive Pay System Details :-

जब आप Positive Pay करते हैं तो बैंक आपके द्वारा Cheque में भरी गयी कुछ Details मांगता हैं जो कुछ इस प्रकार हैं और नीचे image में भी दर्शायी गयी हैं :-

1.) Account Number
2.) Cheque Number
3.) Paying To
4.) Amount
5.) Cheque Date
6.) Transaction Code

Example Image Of bank Cheque with Positive Pay System Details

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here